मुगल शासन


उत्तरी भारत में मुस्लिम आक्रमणों से पहले इस चोटी से पहाड़ी रियासत ने अच्छे दिन देखे I तलहटी के राज्यों को मुस्लिम आक्रमणकारियों ने बार-बार तहस नहस किया I 10वीं सदी के आरम्भ में महमूद गजनवी ने काँगड़ा किले पर विजय प्राप्त की I तैमुर और सिकंदर लोदी भी निचले पहाड़ी इलाकों में आये और अनेक लड़ाईयां लड़ी और किलों पर कब्ज़ा कर लिया I

तत्पश्चात अब मुग़ल वंश टूटने लगा तो पहाड़ी राज्यों के राजाओं ने इसका पूरा फायदा उठाया I काँगड़ा के कटोच शासकों ने इस मौके को भुनाया और महाराजा संसार चंद ने अगली आधी सदी तक काँगड़ा पर स्वतंत्रता पूर्वक शासन किया I वह इलाके के कुशल शासकों में से एक थे I काँगड़ा किले पर औपचारिक अधिग्रहण करने के बाद संसार चंद ने अपना सम्राज्य बढ़ाना शुरू कर दिया I चम्बा, सुकेत, बिलासपुर, गुलेर, ज्स्वा, सिवान और द्तारपुर के राज्य संसार चंद के प्रत्यक्ष नियंत्रण में आ गये I