एक नजर में

क्षेत्र के प्राचीनतम ज्ञात जन जातिय निवासियों को दास कहा जाता था I बाद में आर्य आये और वे जनजातियों में रहने लगे I बाद की शताब्दियों में, पहाड़ी सरदारों ने मौर्य साम्राज्य, कुषाण, गुप्त और कन्नौज शासकों का अधिराज्तव स्वीकार किया I मुग़ल साम्राज्य के दौरान, पहाड़ी राज्यों के राजाओं ने परस्पर सहयोग से ऐसी व्यवस्था बनाई जिससे उनके संबंध प्रगाढ़ हुए I 19वीं शताब्दी में महाराजा रणजीत सिंह ने बहुत से राज्यों को अपने अधीन कर लिया I अंग्रेज जब भारत आये तो उन्होंने गोरखाओं को पराजित किया, बाद में कुछ राजाओं के साथ उन्होंने संधियाँ की और अन्य राज्यों पर अपना कब्ज़ा जमा लिया I 1947 ई तक स्थिति लगभग वैसी ही बनी रही I स्वतंत्रता के पश्चात क्षेत्र की 30 पहाड़ी रियासतों को एकजुट करके 15 अप्रैल 1948 को हिमाचल प्रदेश की स्थापना की गयी I 1 नवम्बर 1966 को पंजाब के अस्तित्व में आने पर कुछ अन्य सम्बंधित क्षेत्रों को हिमाचल में मिला लिया गया I 25 जनवरी 1971 को हिमाचल प्रदेश को पूर्ण राज्य का दर्जा प्राप्त हो गया I राज्य उत्तर में जम्मू-कश्मीर से, दक्षिण-पश्चिम में पंजाब से, दक्षिण में हरियाणा से, दक्षिण-पूर्व में उत्तराखंड से तथा पूर्व में तिब्बत(चीन) की सीमाओं से घिरा हैI |

       अक्षांश: 30⁰ 22' 40" न से 33⁰ 12' 40" न
       देशांतर: 75⁰ 45' 55" इ से 79⁰ 04' 20" इ
       ऊंचाई(समुद्र तल से): 350 मी से 6975 तक
       जनसंख्या(2011 जनगणना): 68,64,602 व्यक्ति
             पुरुष: 34,81,873
             महिलाएं: 33,82,729
       भौगोलिक क्षेत्र (2011): 55,673 वर्ग कि.मी.
       घनत्व(प्रति वर्ग किमी)(2011): 123
       1000 पुरुषों के मुकाबले महिलाएं(2011): 972
       जन्म दर(प्रति 1000): 22.1
       मृत्यु दर(प्रति 1000): 7.2

हिमाचल प्रदेश जनगणना की अधिक जानकारी

  राज्य की राजधानी: शिमला
  जिलों की संख्या: 12
  तहसीलों की संख्या: 158
  मण्डलों की संख्या: 3
  उप-मण्डलों की संख्या: 69
  पुलिस थानों की संख्या: 125
  ब्लाकों की संख्या: 78
  शहरी स्थानीय निकायों की संख्या: 54
  ग्राम पंचायतों की संख्या: 3226
  गांवों की संख्या: 20690
  कस्बों की संख्या: 59
  संसदीय निर्वाचन क्षेत्रों की संख्या:
        लोक सभा: 4
        राज्यसभा: 3
  विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों की संख्या: 68
       प्रति व्यक्ति आय (वर्तमान दरों पर): रु. 130067
       साक्षरता [2011]: 82.80 %
       पुरुष: 89.53 %
       महिलाएं: 75.93 %
       कुल गांवों में बिजली: 100 %
       स्वास्थ्य संस्थाएं: 3919
       सड़कें: 36049 कि. मी.
       खाद्यान उत्पादन: 1619 मीट्रिक टन
       फलों का उत्पादन: 928787 टन
       लिंग अनुपात: 972
  असल बीजाई योग्य क्षेत्र: 543365 हेक्टर
वन आवरण [1996-97]
  सुरक्षित वन क्षेत्र: 1897.87 वर्ग कि.मी.
  संरक्षित वन क्षेत्र: 33129.7 वर्ग कि.मी.
  अवर्गीकृत क्षेत्र: 886.23 वर्ग कि.मी.
  अन्य वन क्षेत्र: 369.49 वर्ग कि.मी.
  वन विभाग के नियन्त्रण रहित वन: 749.58 वर्ग कि.मी.
  वन्यजीव अभयारण्य की संख्या: 30
     औसत वर्षा 1469 मि.मी.
     राज्य पशु: बर्फानी तेंदुआ
     राज्य पक्षी: जुजुराना
     राज्य फूल: गुलाबी बुरुंश
     राज्य भाषा: हिंदी, स्थानीय बोलियाँ
     मुख्य नदियाँ: सतलुज, व्यास, रावी, पार्वती
     मुख्य झीलें: रेणुका, रिवालसर, खाजिआर, डल, व्यास कुंड, भृगु पराशर, मणिमहेश, चंद्रताल, सुरजताल, सिरलोसर गोविन्दसागर, नाको