पà¥à¤°à¤¯à¥à¤à¤¶à¤¾à¤²à¤¾ सॠतालाब तà¤
 
मुख्य पृष्ठ à¤ªà¥à¤°à¤¾à¤¯à¤ पà¥à¤à¥ à¤à¤¾à¤¨à¥ वालॠपà¥à¤°à¤¶à¥à¤¨
Visitor No: 1195292

पà¥à¤°à¤¯à¥à¤à¤¶à¤¾à¤²à¤¾ सॠतालाब तà¤

Print Version  
Last Updated On: 05/09/2014  

प्रश्न:  तालाब को उपजाऊ बनाने हेतु उसमे कितना रसायनिक उर्वरक डालना चाहिए ?

उत्तर: नाइट्रोजनयुक्त रसायनिक उर्वरक तालाब के लिये उपयकुत होता है| एक छोटे तालाब में मुठीभर खाद पर्याप्त होती है|

प्रश्न:  यदि तालाब की मिटटी अम्लीय हो तो क्या करना चाहिए ?

उत्तर: कुछ स्थानो पर मिटटी अम्लीय होती है| ऐसी जगह पर तालाब की जमीनी सतह पर चूना फैलना चाहिए अथवा चूने का प्रयोग सीधे पानी में भी किया जा सकता है|

प्रश्न:  उर्वरकयुक्त वाले तालाब के जलीय सतह पर हरी मेल/झाग बनने का क्या कारण है?

उत्तर: उर्वरकयुक्त वाले तालाब के जलीय सतह पर हरी मेल/झाग जमा हो जाता है| मछली को यह आहार के रूप में पसंद होता है, क्योंकि इसमें अनेक छोटे – छोटे पौधे होते हैं| स्कम बनने का तात्पर्य है की तालाब मछली का बीज डालने के लिये उपयकुत है |

प्रश्न:  तालाब में कौन सी मछली प्रजातियां डाली जा सकतीं हैं?

उत्तर: तालाबों में कतला, रोहु, मिरगल, मिरर कार्प, सिल्वर कार्प, ग्रास कार्प पाली जा सकती हैं| यह सभी प्रजातियां तीव्र वृद्धि दर्शाती  हैं तथा इनमें भोजन के लिये कोई प्रतिस्पर्धा भी नहीं होती |


सुगम्यता विकल्प  | Disclaimer.  | Copyright Policy.  | Hyperlinking Policy.  | Terms and Conditions.  | Privacy Policy.  | Help.