à¤à¤ªà¤¯à¥à¤à¥ सà¥à¤à¤¾à¤¬
 
मुख्य पृष्ठ à¤®à¤à¤²à¥ पà¤à¤¡à¤¨à¥ बारà¥
Visitor No: 1195291

à¤à¤ªà¤¯à¥à¤à¥ सà¥à¤à¤¾à¤¬

Print Version  
Last Updated On: 28/08/2014  
 

उपयोगी सुझाव

1.    चलते सामी रौड के सामने का सिरा अपने आगे न रखेँ | इससे बेहतर आप उसके पीछे वाला सिरा सामने की ओर रखेँ |

2.    लाईन का सिरा अकसर जांच लें और घिसे हुए भाग को काट लें |

3.    एक त्वरित झटका , रौड को हिलाना – तेज व धीमी गति का    एहसास प्रायः मछ्ली को आकर्षित करता है |

4.    सपून को हमेशा पौलिस्ड रखें क्योकि मचलियाँ प्रायः चमकीली सतह की ओर आकर्षित करता है |

5.    बिना लैडिग नैट या बर्छिदार कांटे के मछ्ली पकड़ने न जाये |

6.    ऊबड़ – खाबड़ रास्ते मे न जाए , यह हानिकारक हो सकता है |

7.    कांटे को स्टिकता से फ़ैकना उसे दूर फ़ैकने से बेहतर है |

8.    गट को हल्का सा भी खराब न होने दें अन्यथा आप मुसीबत मे पड़ जायेंगे |

9.    सभी काँटों को जाच ले की वीएच तेज हो |

10.   ज़्यादातर एंगलर नदी के ऊपर की ओर मछ्ली पकड़ने की सलाह देते है क्योंकि नीचे ऊपर या किन्नारों को तरफ नही देख सकती      | इससे मछ्ली पकड़ने की बेहतर संभावना है और मछ्ली के मुंह से हुक निकल नही पता |

11.   मछ्ली आकार व रूप मे अंतर कर सकती है | हमेशा चारे का    बेहतर चयन करें |

12.   यदि गट बार बार मुड़े तो अपनी अंगुलियों व अंगूठे को गिला करके उनमे से उसे ले जाए , इससे वह सीधा हो जाएगा |

13.   रील को ऊपर टक न भरें , इससे लाईन जाम हो जाएगा |

14.   अपनी रील को अधूरा न भरें, इससे कांटा दूर टक नही जाएगा |

15.   गाँठो को बांधते समय ज़ोर का झटका न दे, इन्हें आराम से खींचे       |

16.   बेहतर उपकरणों से बेहतर खेल मिलता है |

17.   चारे को नदी के ऊपर की तरफ फेंकना काफी प्राकृतिक लगता है |

18.   यदि ट्राउट फैलाई न पकड़े तो स्पून के साथ प्रयत्न करना |

19.   सूर्य के सामने खडे होकर पकड़ने से परछाई पानी में नही पड़ती |      एंगलर की परछाई मछ्ली को डरा देती है |

20. यात्रा पर जाने से पहले अभ्यास कर लें , क्योंकी अच्छे से कांटा फैंकने से अच्छी मछ्ली पकड़ी जाती है |

21. हल्के उपकरणों से मछ्ली पकड़ने के बेहतर परिणाम मिलते हैं |

22. बेहतरीन मछ्ली पकड़ने के स्थान हैं – डूबी चट्टानें, चक्रवात, झरनें तथा गहरे तालाब |

23. जहां चोटी मछलियाँ ढेर सारी हों, वह एक बेहतर स्थान है |

24. यदि एक स्थान पर आप सफल हो जाएँ तो कुछ समय के लिए विराम दें , तथा घण्टों बाद फिर कोशिश करें, अन्यथा वह जगह खाली हो जायगी |

25. जैसे ही फलाई पानी की स्तह को छूती है उसी समय ट्राउट उसे निगल लेती है | इसलिए एंगलर को तुरंत कारवाई कर अवसर का पूरा लाभ लेने के लिए तैयार रहना चाहिए |

26. ट्राउट को देखने पर नदी के आसपास लगे पौंधों में फलाई को इस   प्रकार फैकें, मानों वह स्वाभाविक रूप से वहाँ गिरि हो | इससे मछ्ली की संभावना बढ़ जाती है |

27. जहां मछ्ली का आहार जाता है वहीं आपका चारा जाना चाहिए |

इसलिए हुच टुकड़ों को नदी मे फैंक कर देखें कि वो कहाँ जाते हैं       |

28. सुबह के समय ज्यादा मछलियाँ पकड़ी जाती है तथा शाम को      भारी मछलियाँ |

29. ट्राउट व ज़्यादातर मछलियाँ किनारों व झाड़ियों के नीचे छिप जाती हैं| यदि ठंडी हवा चल रही हो तथा संभव हो धूप को तरफ आती है |

30. यदि चोटी मछलियों का झुंड को तो कुछ देर ठहरें तथा झुंड से     कुछ ऊपर कांटा फ़ैंके |

31. हल्की गर्मी मे मछलियाँ गहरे पानी मे चली जाती है , इसलिए     कांटा गहरा फैंकना चाहिए |

32. अपनी मछ्ली को पकड़ने से पहले उसे पूरी तरह से थका लें , और कोई जल्दबाजी न करें , पानी में छींटे न मारें , इससे मछ्ली भाग सकती है |

33. आप कितने भी चौकस हो दुर्घटना झो सकती है , इसलिए मुरम्मत का सामान साथ ले जाये |

34. तेज पानी में न जाए, यह खतरनाक है |

35. पड़ी हुक आपकी त्वचा में चला जाए तो इसे बाहर न खींचे , उसे हल्का धक्का देकर व धागा काटकर बाहर निकालें |

36. मछ्ली को घर ताजा लाया जा सकता है, यदि टोकरी के तल में    हरी घास बिछा दी जाए तथा मछ्ली व घास को परतें बिछाई       जाए | बोरी को कस कर लपेटें और बांध दें | उसे पानी में डुबोयेँ और कार के बम्पर पर बांध दें ताकि वह गिला रहे | जब आप उसे खोलेंगे तब मछ्ली फ्रिज में रखी मछ्ली के समान ठंडी होगी |

 

सुगम्यता विकल्प  | Disclaimer.  | Copyright Policy.  | Hyperlinking Policy.  | Terms and Conditions.  | Privacy Policy.  | Help.