विकलांगजनो का कौशल विकास

Last Updated On: 06/06/2013
 

उद्देश्य

विकलांगजनो के बौद्धिक और शारीरिक क्षमताओ के दृष्टिगत उनके कौशल विकास के लिए सरकारी/गैर सरकारी संस्थानो के माध्यम से प्रशिक्षण  आयोजित करके उन्हे स्वयं रोजगार के अवसर प्रदान करना ।

पात्रता

40 प्रतिशत या इससे अधिक की विकलांगता से ग्रस्त 18 से 45 वर्ष  के व्यक्तियो जिनके परिवार की वर्षिक आय 1.00 लाख रू ते कम हो, को चिन्हित कोर्स मे आई0टी0आई के माध्यम से निशुल्क प्रशिक्षण दिया जाता है 

सहायता

चिन्हित कोर्स मे निशुल्क प्रशिक्षण तथा प्रशिक्षण के दौरान 1000/-रू प्रति माह वित्तिय सहायता दी जाती है।

 विकलांगजन के लिए विवाह अनुदान

(Marriage Grant to Disabled)

उद्देश्य

शारीरिक रूप से सक्षम व्यक्तियों को विकलागं व्यक्तियों के साथ विवाह के लिए प्रेरित करना ।

पात्रता

40 प्रतिशत या इससे अधिक की विकलांगता से ग्रस्त पुरूष/महिला से शादी करने वाले शारीरिक रूप से सक्षम व्यक्ति ।

सहायता

40 से 74 % विकलांग व्यक्तियों को  8000/-रू ।

75 से 100% विकलांग व्यक्तियों को 15000/-रू ।

(v) विकलांगों को स्वरोजगार सहायता

(Assistance to Disabled for Self Employment)

उद्देश्य

विकलांगों को स्वरोजगार व्यवसाय स्थापित करवा कर आत्म-निर्भर बनाने हेतु ।

पात्रता

जिन विकलांगजनो ने स्वरोजगार व्यवसाय स्थापित करने के लिए राष्ट्रीय विकलांग वित्त एवं विकास निगम को ऋण हेतु आवेदन हिमाचल प्रदेश अल्पसंखयक वित्त एवं विकास निगम को प्रस्तुत किये हो ।

सहायता

परियोजना लागत का 20%   या अधिकतम 10,000/- रू