एनआईसी हिमाचल प्रदेश मुख्य कार्यक्रम

चल रही गतिविधियों की मुख्य विशेषताएं

दिनांक गतिविधियां
04 अक्टूबर 017 हिमाचल प्रदेश में अपराध, आपदा, कचरा, दुर्घटना, सड़क नाकाबंदी, जंगल की आग या छेड़खानी से संबंधित किसी भी समस्या / मुद्दे की रिपोर्ट करने के लिए श्री सदीप सूद और श्री अमित कानोजिया द्वारा डिजाइन और विकसित की गई श्रेष्ठ हिमाचल और स्त्री सुरक्षा ऐप।
04 अक्टूबर 2017 मोबाइल ऐप स्त्री सुरक्षा, महिलाओं को आपात्कालीन स्थिति में पूर्वनिर्धारित मोबाइल नंबर पर एसएमएस भेजने में मदद करती है, ऐप श्री संदीप सूद और श्री अमित कानोजिया द्वारा डिजाइन और विकसित की गई।
14 सितंबर 2017 हिंदी पखवाड़ा के अंतर्गत हिंदी दिवस का आयोजन किया गया। जिसमें समस्त अधिकारिओं एवं कर्मचारिओं ने विभिन्न प्रतियोगितायों में भाग लिया।
04 सितंबर 2017 माननीय मुख्यमंत्री श्री वीरभद्र सिंह ने जिला हमीरपुर में दर्पन डीएम-डैशबोर्ड का शुभारंभ किया। श्री विनोद गर्ग, डीआईओ और श्री शैलेंद्र कौशल ने सेवाओं के एकीकरण के लिए विभागों के साथ समन्वय किया।
14 अगस्त 2017 श्री भुपिंदर पाठक, अक्षय मेहता और संबंधित डीआईओ / अतिरिक्त डीडीओ द्वारा वाहन के ऑनलाइन पंजीकरण और संबंधित सेवाओं के लिए वाहन सॉफ्टवेयर हिमाचल प्रदेश के 73 आरएलए में कार्यान्वयन किया गया और अन्य आरएलए प्रगति पर हैं।
08 अगस्त 2017 मुख्य मंत्री श्री वीरभद्र सिंह द्वारा 08 अगस्त 2017 को मुख्य मंत्री राहत निधि ऑनलाइन वेब-आवेदन शुरू किया गया। यह सॉफ्टवेयर श्री संजय कुमार ठाकुर द्वारा विकसित किया गया।
5 अगस्त 2017 राजभाषा हिन्दी के प्रयोग को बढ़ावा देने और सरकार की राजभाषा नीति के प्रति अनुकूल वातावरण बनाने के लिए राष्ट्रीय सूचना-विज्ञान केंद्र हिमाचल प्रदेश राज्य कार्यालय में 05-अगस्त-2017 को हिंदी समिति की बैठक, हिंदी संगोष्ठी एवं एक दिवसीय हिंदी कार्यशाला का आयोजन किया गया, जिसमें सभी जिला कार्यालयों ने भी भाग लिया।
20 जून 2017 विजयकुमार गुप्ता और मुकेश कुमार द्वारा हि.प्र. सरकार के जीपीएफ उपभोक्ताओं की सदस्यता और अन्य विवरणों को देखने के लिए मायजीपीएफ नामित मोबाइल ऐप डिज़ाइन और विकसित की गई
03 जून 2017 राजभाषा हिन्दी के प्रयोग को बढ़ावा देने और सरकार की राजभाषा नीति के प्रति अनुकूल वातावरण बनाने के लिए राष्ट्रीय सूचना-विज्ञान केंद्र हिमाचल प्रदेश राज्य कार्यालय में 03-जून-2017 को हिंदी समिति की बैठक, हिंदी संगोष्ठी एवं एक दिवसीय हिंदी कार्यशाला का आयोजन किया गया, जिसमें सभी जिला कार्यालयों ने भी भाग लिया।
24 मई 2017 जिला सिरमौर की सभी तहसीलों और उप तहसीलों में कार्यालय के कनोगास, पटवारी और कंप्यूटर ऑपरेटरों के लिए श्री विजय कुमार, श्री मोहन राकेश द्वारा भूमि रिकॉर्ड्स में आधार सीडिंग पर कार्यशाला-सह-प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया
05 मई 2017 इमारतों इत्यादि के लिए अग्नि सुरक्षा का अनापत्ति प्रमाण पत्र एनआईसी के सर्विस प्लस ढांचे का उपयोग करके श्री ललित कपूर, श्री विमल शर्मा, श्री विजय कुमार, मोहन राकेश द्वारा बनाया गया
13 अप्रैल 2017 मोबाइल एंड्रॉइड ऐप एचपीपीएससी - (हिमाचल प्रदेश लोक सेवा आयोग) श्री संदीप सूद, श्री अमित कानोजिया द्वारा विकसित की गई
24 मार्च 2017 कैशलेस लेन-देन व भुगतान करने के नकदी रहित डिजिटल तरीकों को बढ़ावा देने के लिए, उपायुक्त कार्यालय ज़िला शिमला के समस्त विभागों के कर्मचारियों व अधिकारियों के लिए ज़िला प्रशासन शिमला व एनआईसी ज़िला शिमला केंद्र, द्वारा उपायुक्त कार्यालय ज़िला शिमला में संयुक्त रूप से जागरूकता कार्यशाला का आयोजन श्री पंकज गुप्ता जी और श्री दीपक कुमार द्वारा किया गया ।
21 मार्च 2017 हिमाचल प्रदेश में आईएफएस अधिकारियों के लिए स्पारोव रोलआउट करने के लिए स्पायरव सॉफ्टवेयर पर प्रशिक्षण सह कार्यशाला आयोजित की गई। वन विभाग के 35 अधिकारियों ने कार्यशाला में भाग लिया।
19 मार्च 2017 शिमला में 19 मार्च 2017 को विभिन्न प्रकार के भुगतान करने के लिए नागरिकों को नकद रहित तरीके से उपयोग करने के लिए डिगी धन मेले का संवेदीकरण और प्रशिक्षण दिया गया। माननीय केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री श्री जे.पी. नड्डा प्रमुख अतिथि थे और हिमाचल प्रदेश में नकद रहित पहल पर एनआईसी हिमाचल प्रदेश के स्टॉल का दौरा किया और राज्य सूचना विज्ञान अधिकारी श्री अजय सिंह चहल के साथ बातचीत की।
17 मार्च 2017 भूमि रिकॉर्ड सॉफ्टवेयर में आधार सीडिंग पर प्रशिक्षण कार्यक्रम संजीव कुमार और अनुराग गुप्ता द्वारा जिला ऊना के राजस्व विभाग के अधिकारियों के लिए किया गया
3 फरवरी 2017 श्री राकेश कुमार, डीआईओ बिलासपुर को डिजिटल भुगतान पहल की दिशा में अनुकरणीय सेवाओं के लिए प्रशंसा प्रमाण पत्र, श्री रवि शंकर प्रसाद, इलेक्ट्रॉनिक्स प्रौद्योगिकी और सूचना, विधि और न्याय के माननीय केन्द्रीय मंत्री द्वारा 19 जनवरी, 2017 को 19 से 21 जनवरी 2017 को नई दिल्ली में राष्ट्रीय सूचना विज्ञान जमीनी बैठक के दौरान सम्मानित किया गया।
9 जनवरी 2017 एनआईसी हिमाचल प्रदेश के अधिकारियों द्वारा लिखे गए दो पत्रों संग्रह के चयनित पत्र में 20वीं राष्ट्रीय ई-शासन सम्मेलन के दौरान 9 और 10 जनवरी, 2017 साल 2016-17 के लिए प्रकाशित किया गया है। एक कागज सबसे अच्छा कागज चयनित किया गया और सीरियल नंबर 1 पर प्रकाशित है 1. पत्र श्री अजय सिंह चहल, श्री भूपिन्दर पाठक, श्री शैलेन्द्र कौशल द्वारा लिखा गया है।
29 दिसंबर 2016 मौसम विज्ञान केंद्र शिमला की वेबसाइट श्री सर्वजीत कुमार द्वारा पुन: डिज़ाइन और होस्ट की गई
26 दिसंबर 2016 वाहन4.0 वेब आवेदन पायलट आधार पर आरएलए फतेहपुर (एचपी-88) पर लागू, साथ में नागरिक इंटरफेस और भारतीय स्टेट बैंक के माध्यम से भुगतान के लिए पीओएस मशीन का एकीकरण, और कार्ड के आकार की आरसी वितरित की जा रही है। शेष हिमाचल प्रदेश के आरएलए/आरटीओ पायलट चलाने के बाद चरणबद्ध तरीके से शुरू किया जाएगा। सॉफ्टवेयर विकास, रोलआउट और कार्यान्वयन का समन्वय श्री भूपेन्द्र पाठक के द्वारा किया जा रहा है।
21 दिसंबर 2016 हिमाचल प्रदेश के लघु बचत विभाग की लघु बचत ऑनलाइन एजेंसी प्रणाली डिजाइन, विकसित और होस्ट, श्री अखिलेश भारती द्वारा की गई
19 दिसंबर 2016 मिड डे मील मोबाइल एप्प ने डिजिटल इंडिया गोल्ड चिह्न पुरस्कार 2016 जीता। मोबाइल एप्प श्री संदीप सूद, श्री अमित कनौजिया द्वारा विकसित की गई
15 दिसंबर 2016 जमाबंदी और शजरा नसब देखने के लिए भू-अभिलेख विभाग के लिए मोबाइल एप्प, मोबाइल एप्प श्री संदीप सूद और श्री अमित कनौजिया द्वारा विकसित की गई
15 नवंबर 2016 इंटेग्रेटिड ई हिमभूमि और मोबाइल एप्प्स पर एक प्रदर्शन उपायुक्त कार्यालय सोलन में सोलन जिले के राजस्व अधिकारियों को एनआईसी टीम, श्री अजय सिंह चहल, राज्य सूचना विज्ञान अधिकारी हिमाचल प्रदेश के नेतृत्व में आयोजित किया गया।
10 नवंबर 2016 एक डेमो सह प्रशिक्षण सत्र एनआईसी जिला इकाई द्वारा लाहौल-स्पीति के केलांग में आयोजित किया गया। इस डेमो सत्र के लिए अध्यक्ष थे उपायुक्त श्री विवेक भाटिया साथ में एसडीओ(सिविल) श्री सनी शर्मा और विभागों के सभी प्रमुख श्री गुरप्रीत सिंह द्वारा।
09 नवंबर 2016 डीआरडीए हमीरपुर वेबसाइट श्री विनोद कुमार गर्ग और श्री भूपेन्द्र सिंह द्वारा डिजाइन और विकसित की गई
21 अक्टूबर 2016 मोबाइल एंड्रॉयड एप्प ई समाधान - ऑनलाइन लोक शिकायत प्रणाली श्री प्रवीण शर्मा और श्री अमित कनौजिया द्वारा विकसित की गई
20 अक्टूबर 2016 एम सी शिमला मोबाइल एप्प पर एम सी शिमला अधिकारियों के लिए बचत भवन में आयोजित प्रशिक्षण कार्यक्रम। प्रशिक्षण श्री संदीप सूद और श्री अमित कनौजिया द्वारा दिया गया।
19 अक्टूबर 2016 स्कूल के शिक्षकों के लिए बनी एंड्रॉयड एप्प स्कूल स्टूडेंट आधार नंबर को सीड करने के लिए श्री अमित कनौजिया द्वारा विकसित की गई
18 अक्टूबर 2016 श्री अखिलेश भारती, श्री अश्विनी कुमार और श्री शैलेन्द्र कौशल द्वारा मंडी में एनआईसी वीसी का उपयोग करके भारत के माननीय प्रधानमंत्री ने राष्ट्र को तीन बिजली परियोजनाएं समर्पित की
03 अक्टूबर 2016 सोलन जिला प्रशासन की नयी वेबसाइट सी एम एस पर श्री संजीव कुमार और श्री अनुज धनगर द्वारा पुननिर्मित की गयी
19 सितंबर 2016 शिमला नगर निगम ने पर्यटकों और एमसी शिमला के नागरिकों को डिजिटली सशक्त करने के लिए एक मोबाइल एप्लीकेशन को लॉन्च किया I जिसे श्री अमित कनोजिया द्वारा विकसित किया गया है I
18 सितंबर 2016 हिमाचल प्रदेश टोकन टैक्स कैलकुलेटर का निजी/मालवाहक वाहन और यात्री वाहनो के टोकन टैक्स की गणना के लिए मोबाइल एप्लीकेशन का विकास श्री पृथ्वी राज नेगी द्वारा किया गया I
14 सितंबर 2016 राजभाषा हिंदी को कार्यालय में अधिक से अधिक प्रयोग हेतु बढ़ावा देने के अंतर्गत रा.सू.वि.के. हिमाचल प्रदेश एवं समस्त अधीनस्थ कार्यालयों के लिए राज्य केंद्र शिमला में हिंदी दिवस का आयोजन किया गया एवं विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। इन प्रतियोगिताओं में घोषित विजेताओं को पुरस्कार दिए गए। जिसमें एन.आई.सी. के समस्त अधिकारिओं एवं कर्मचारिओं ने भाग लिया। समस्त जिला केन्द्रों एवं अन्य कार्यालयों के सभी मुलाजिम विडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के माध्यम से उपस्थित रहे।
08 सितंबर 2016 सारथी - हिमाचल प्रदेश ने ऑनलाइन ड्राइविंग लाइसेंस सेवा 2016 के लिए स्कॉच गोल्ड पुरस्कार और एनआईसी के 13 प्रोजेक्ट्स को स्कॉच आर्डर ऑफ मेरिट पुरस्कार 2016 मिला I
07 सितंबर 2016 हिमाचल प्रदेश का नया रिस्पांसिव वेब पोर्टल श्री राकेश कुमार और श्री सर्वजीत कुमार द्वारा डिजाईन एवं विकसित किया गया I
03 सितंबर 2016 क्षेत्रीय पासपोर्ट कार्यालय शिमला द्वारा दो दिवसीय पासपोर्ट सेवा शिविर 3-4 सितम्बर 2016 को डीसी कार्यालय मंडी, हिमाचल प्रदेश के सम्मलेन कक्ष में आयोजित किया गया I इस शिविर के दौरान आईसीटी समर्थन एनआईसी जिला केंद्र की ओर से प्रदान किया गया I यह शिविर आस-पास के आवेदकों के लिए आयोजित किया गया था और जिसमें लगभग 250 आवेदन पत्र श्री अखिलेश भारती द्वारा प्रोसेस किए गये I
27 अगस्त 2016 राजभाषा हिंदी को कार्यालय में अधिक से अधिक प्रयोग हेतु बढ़ावा देने के अंतर्गत रा.सू.वि.के. हिमाचल प्रदेश एवं समस्त अधीनस्थ कार्यालयों के लिए राज्य केंद्र शिमला में एक दिवसीय हिंदी कार्यशाला एवं हिंदी संगोष्ठी का आयोजन किया गया, तथा हिंदी समिति की बैठक भी आयोजित की गयी। जिसमें एनआईसी के समस्त अधिकारिओं एवं कर्मचारिओं ने भाग लिया। समस्त जिला केन्द्रों एवं अन्य कार्यालयों के सभी मुलाजिम विडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के माध्यम से उपस्थित रहे।
24 अगस्त 2016 लीज़ रजिस्टर सॉफ्टवेर (http://lrc.hp.nic.in/lrc/) के बारे में जिले के सभी 20 तहसीलों और उप-तहसीलों के राजस्व अधिकारियों को श्री पंकज गुप्ता द्वारा प्रशिक्षण दिया गया I
20 अगस्त 2016 क्षेत्रीय पासपोर्ट कार्यालय शिमला द्वारा दो दिवसीय पासपोर्ट सेवा शिविर 20-21 अगस्त 2016 को डीसी कार्यालय हमीरपुर, हिमाचल प्रदेश के सुगम केंद्र में आयोजित किया गया I इस शिविर के दौरान आईसीटी समर्थन एनआईसी जिला केंद्र की ओर से प्रदान किया गया I यह शिविर बिलासपुर, ऊना, चंबा, हमीरपुर, काँगड़ा, मंडी के आवेदकों के लिए आयोजित किया गया था और जिसमें लगभग 222 आवेदन पत्र श्री विनोद गर्ग द्वारा प्रोसेस की गई I
19 अगस्त 2016 न्यायमूर्ति श्री तीरथ सिंह ठाकुर, भारत के माननीय मुख्य न्यायाधीश द्वारा हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय के कर्मचारियों की कार्मिक प्रबंधक सूचना प्रणाली (पी एम आई एस) हेतू एंड्राइड ऐप को लॉन्च किया गया I यह मोबाइल ऐप श्री संजय कुमार द्वारा विकसित किया गया है
08 अगस्त 2016 मध्याह्न भोजन- स्वचालित रिपोर्टिंग और प्रबंधन प्रणाली (एम डी मी - ए आर एम एस) हिमाचल प्रदेश प्राथमिक शिक्षा विभाग के कर्मचारियों व अधिकारीयों के लिए विभिन्न वर्गों मैं कार्यशाला व प्रशिक्षण का आयोजन 08 अगस्त 2016 को श्री सर्वजीत कुमार द्वारा शुरू किया गया |
01 अगस्त 2016 मध्याह्न भोजन- स्वचालित रिपोर्टिंग और प्रबंधन प्रणाली (एम डी मी - ए आर एम एस) मोबाइल ऐप के साथ लॉन्च हुई I जिसमें तीन राज्य – राज्यस्थान, हिमाचल प्रदेश व संघ शासित प्रदेश-चंडीगढ़ शामिल हैं I श्री संजय कुमार द्वारा इस सॉफ्टवेर को बनाया गया तथा इसका मोबाइल ऐप श्री संदीप सूद की अध्यक्षता में उनकी टीम के सहयोग से विकसित किया गया I
20 जुलाई 2016 मानव सम्पदा का मोबाइल ऐप का इस्तेमाल वर्तमान में 11 राज्यों / संघ शासित प्रदेशों में हो रहा है I मोबाइल ऐप श्री संदीप सूद की अध्यक्षता में उनकी टीम के सहयोग से विकसित किया गया I
09 जून 2016 राजभाषा हिंदी को कार्यालय में अधिक से अधिक प्रयोग हेतु बढ़ावा देने के अंतर्गत हिंदी कार्यशाला, संगोष्ठी, एवं समिति की बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें एन.आई.सी. के समस्त अधिकारिओं एवं कर्मचारिओं ने भाग लिया।
25 मई 2016 नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति (नराकास), शिमला की वेबसाइट का शुभारंभ दिनांक 25-मई-2016 को सम्मलेन कक्ष बचत भवन, उपायुक्त कार्यालय परिसर में उपाध्यक्ष नराकास शिमला एवं प्रधान आयकर आयुक्त श्री एच. सी. नेगी ने नराकास की छमाही बैठक के दौरान किया। वेबसाइट को श्री सर्वजीत कुमार एवं श्री राकेश कुमार ने प्रारूपित एवं विकसित किया है।
16 मई 2016 आनलाइन परमिट इशुएंस साफ्टवेयर जिसे कि पर्यटन और यात्रा के उद्देश्यों से रोहतांग और उसके आगे जाने वाले वाहनों के लिए श्री ललित कपूर और श्री आशीष शर्मा द्वारा विकसित किया गया हैI
07 मई 2016 माननीय उपसभापति श्रीमती प्रतिभा सिंह जी ने जिला रेड क्रॉस सोसायटी कार्यालय शिमला से क्लॉथ बैंक सॉफ्टवेर की शुरुआत की | यह सॉफ्टवेर श्री पंकज गुप्ता और श्री दीपक कुमार द्वारा विकसित किया गया है I
05 मई 2016 मध्याह्न भोजन- स्वचालित रिपोर्टिंग और प्रबंधन प्रणाली की श्री पी सी धीमान आई ए एस , अतिरिक्त मुख्य सचिव (शिक्षा) द्वारा समीक्षा की गयी I इस सॉफ्टवेयर को श्री संजय कुमार और उनकी टीम द्वारा विकसित किया गया
30 अप्रैल 2016 माननीय सूचना प्रोद्योगिकी मंत्री श्रीमती विद्या स्टोक्स जी ने हिमाचल प्रपत्र का शुभारम्भ किया I यह पोर्टल हिमाचल प्रदेश सरकार के सभी प्रकार के फॉर्म्स के बारे में जानकारी का एक बिंदु स्त्रोत है , इसे श्री संजय शर्मा और श्री सर्वजीत कुमार द्वारा डिजाईन और विकसित किया गया है I
22 अप्रैल 2016 माननीय मुख्यमंत्री श्री वीरभद्र सिंह जी के नेतृत्व में ई-डिस्ट्रिक्ट परियोजना के अंतर्गत आम नागरिक सम्बंधित सेवाओं का शुभारंभ किया गया I राजस्व विभाग से सम्बंधित ई-सेवाओं को श्री संदीप सूद, श्री प्रवीन शर्मा और सुश्री वन्दना धीमान द्वारा विकसित किया गया है I उद्घाटन समरोह के दौरान एन आई सी हिमाचल प्रदेश और डी आई टी हिमाचल प्रदेश के सभी अधिकारी उपस्थित थे I
01 अप्रैल 2016 एकीकृत ऑनलाइन वित्त प्रबंधन प्रणाली सॉफ्टवेर के ई-बिल माड्यूल को श्री विजय कुमार गुप्ता द्वारा डिजाईन, विकसित और एन आई सी क्लाउड पर होस्ट की गयी है I
28 मार्च 2016 राजस्व विभाग के लिए सर्किल रेट्स और शुल्क दरों के लिए साफ्टवेयर को नए कार्यप्रवाह के अनुसार आनलाइन कर दिया गया I इस साफ्टवेयर को डिजाईन और विकसित श्री ललित कपूर और श्री आशीष शर्मा द्वारा किया गया है I
21 मार्च 2016 राजस्व विभाग के भू-नक्शा सॉफ्टवेर को एन०आई०सी० के क्लाउड पर ऑनलाइन होस्ट कर दिया गया है और 10 तहसीलों कि मुस्सावी व नक्षा(नक़ल) ऑनलाइन उपलब्ध हैं I यह सॉफ्टवेर श्री संदीप सूद, श्री प्रवीण शर्मा और सुश्री वंदना धीमान द्वारा डिजाईन और विकसित किया गया है I
16 मार्च 2016 राजभाषा हिंदी को कार्यालय में अधिक से अधिक प्रयोग हेतु बढ़ावा देने के अंतर्गत हिंदी कार्यशाला, संगोष्ठी, एवं समिति की बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें एन.आई.सी. के समस्त अधिकारिओं एवं कर्मचारिओं ने भाग लिया।
11 मार्च 2016 एनआईसी हिमाचल प्रदेश को पी सी क्वेस्ट द्वारा 2016 मे आयोजित पुरस्कार समारोह में बेस्ट आईटी इम्प्लीमेंटेशन व बेस्ट ई-गवर्नेंस प्रोजेक्ट्स अवार्ड्स की श्रेणी में स्कीम मानिटरिंग सिस्टम व हॉट डाक ट्रैकिंग सिस्टम को पुरस्कार मिले |
23 फरवरी 2016 महिला एवं बाल विकास विभाग कि विभागीय गतिविधियों को ऑनलाइन कर दिया गया है जिसमे सभी क्षेत्रीय कार्यालयों को भी कवर कर लिया गया है I यह सॉफ्टवेर श्री ललित कपूर और श्री आशीष शर्मा द्वारा डिजाईन और विकसित किया गया है I
21 जनवरी 2016 एन आई सी हिमाचल प्रदेश ने एकीकृत ऑनलाइन होटल आरक्षण प्रणाली के लिए राष्ट्रीय ई-गवर्नेंस अवार्ड – गोल्ड आइकॉन जीता I
08 जनवरी 2016 भारत के राष्ट्रपति कि गवर्नर्स और लेफ्टिनेंट गवर्नर्स के साथ जनवरी 8, 2016 को की गयी वीडियो कांफ्रेंस I
07 जनवरी 2016 माननीय मुख्यमंत्री, हिमाचल प्रदेश ने आम जनता से सुझाव ऑनलाइन आमंत्रित करने के लिए एक वेब पोर्टल की शुरुआत की I वेब-पोर्टल को एनआईसी हिमाचल प्रदेश द्वारा डिजाईन और विकसित किया गया है और इस द्विभाषीय वेब-पोर्टल पर हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओँ में सुझाव भेजने जा सकते हैं |
07 जनवरी 2016 माननीय मुख्य न्यायाधीश हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय द्वारा मोबाइल ऐप को लॉन्च किया गया I इस मोबाइल ऐप को हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय की कंप्यूटर शाखा के साथ एनआईसी हिमाचल प्रदेश द्वारा विकसित किया गया है I एनआईसी हिमाचल प्रदेश के श्री संदीप सूद वैज्ञानिक-डी, श्री अमित कनोजिया, श्री साजिद आबिद और जितेंदर शर्मा ने इस मोबाइल ऐप को बनाने में मुख्य योगदान दिया I

संग्रह